Gayatri Chalisa

जय गायत्री माता, मैया जय गायत्री माता।तुमको नित ध्याऊं, मैं जन्म-जन्म की भक्ति करूं॥ चालीसा पाठ करूं, तुमको मन से प्रिय धरूं।ब्रह्मा, विष्णु, महेश, तिन्हों तुमहीं ध्याऊं॥ ज्ञान देती है ज्ञान दाता, सब तीर्थों में तुम ही राजा।ज्ञान से तुम नहीं कोई, तुम ही ज्ञान के सम्राटा॥ स्वर्ग-सुख की तुम सेवा, सबकी चिंता तुम ही …

Surya Chalisa

जय जय जय हनुमान गोसाईं।कृपा करहु गुरुदेव की नाईं।। सूर्यचालीसा जो कोई गावै।सोय भक्त अपराध न खावै।। सोय भक्त अपराध न खावै।कूद पद प्रगाध प्रनाम करावै।। जब भी कोई गावै सोई।प्रभाते उठ उठ सब काज सफल होई।। दोहा:जो सुर्य नारायण जी की।सो ब्राह्मण स्वर्ग समान तीरथ स्थान धान की।। सुर्य चालीसा की जोगिन्द्र कहावै।दुष्ट संकट …

Ganga Chalisa

जय जय जय गंगा माता।जय जय जय गंगा माता॥ जो नर तरत श्राप से पारी।पावन नहावे जो यह धारी।। जय जय जय गंगा माता।जय जय जय गंगा माता॥ तापित हृदय में जब विचारा।सो गंगा जानत है बिचारा।। जय जय जय गंगा माता।जय जय जय गंगा माता॥ यशोदा के जीवन में जाकर।श्रीकृष्ण को पावन धारी।। जय …

Shani Chalisa

जय श्री शनिदेव भगवान्।जय श्री शनिदेव भगवान्। जय श्री शनिदेव भगवान्।की पवन शान्ति प्रदान।। चालीसा विन्यास गुण सागर।ज्ञान दृष्टि सुख दाता नागर।। जय श्री शनिदेव भगवान्।की पवन शान्ति प्रदान।। शनि चालीसा करत विनती।हरहु शनि महाराज मम संकटी।। जय श्री शनिदेव भगवान्।की पवन शान्ति प्रदान।। जो कोई भक्त शनि चालीसा।होय सिद्धि सकल उस मन तीसा।। जय …

Krishna Chalisa

दोहा:जय कन्हैया लाल की, जय कंजवाला माला।जय कन्हैया लाल की, जय कंजवाला माला॥ चालीसा:अरे दुख दरिद्र का मारी, कृष्ण कृपा करी हम पर।रजनी भरमे है जग सभा, हरी नाम रस महि पर॥ जय कन्हैया लाल की… धूप दीप फल मेवा, तुलसी पत्ता श्यामा।चढ़त मेवा धरि रखवारा, कृपा करो बलिहारी॥ जय कन्हैया लाल की… तेरो ही …

Ram Chalisa

दोहा:श्री गुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकुरु सुधारि।बरनऊँ रघुबर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि॥ चालीसा:बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन कुमार।बल बुद्धि बिद्या देहु मोहि, हरहु कलेश विकार॥ राम चरित मानस जाको, इज्ञान गुन सदार।तुलसीदास सदा हृदय रघुनाथ की भाजो, श्रीरघुनाथ॥ रामचरित मानस पथ प्रबोधन, सुमिरौं पवन कुमार।बल बुद्धि बिद्या देहु मोहि, हरहु कलेश …

Sai Chalisa

दोहा:जय साईंं, जय साईंं, जय जय साईंं।सदगुरु साईंं महाराज, की जय जय साईंं॥ चालीसा:जय साईंं जय साईंं, सदगुरु साईंं।जय जय साईंं॥ जो कोई जापे साईंं का, हृदय से उसका नाम वहीं।माला तुलसी वाणी, देवन जन मन राम समान वहीं॥ जय साईंं… प्रेम भक्ति से जो जापे, साईंं का नाम वहीं।मनवांछित फल पावे, साईंं रक्षक वहीं॥ …

Saraswati Chalisa

दोहा:जय श्री सरस्वती माता, मैया जय श्री सरस्वती माता।सदा विद्या बुद्धि दे, कर्म प्रवाह प्रचंड विधाता॥ चालीसा:जय श्री सरस्वती माता, मैया जय श्री सरस्वती माता।जय श्री सरस्वती माता, मैया जय श्री सरस्वती माता॥ मातु विद्या दान करो, विघ्न विनाशनी।संकट हरो मंगल करो, जग का आनंददाता॥ जय श्री सरस्वती माता… तुम भुवन में आयी, श्याम बसंत …

Lakshmi Chalisa

दोहा:जय लक्ष्मी रमणा, स्वामी जय लक्ष्मी रमणा।सदा सदा मैं जीवत रहूं, तुमको नित सेवत रहूं॥ चालीसा:जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता।तुमको निशदिन सेवत हरि विष्णु विधाता॥ उमा रमा ब्रह्माणी, तुम ही जग माता।सूर्य चन्द्रमा ध्यावत, नरद ऋषि गाता॥ जय लक्ष्मी माता… धूप दीप फल मेवा, माँ सेवत नर नारी।सेवत नर नारी॥ तुम ही जग …

Santoshi Mata Chalisa

जय सन्तोषी माता, जय जय माता।अपनों से सन्तोषी, भक्तवती जनता॥ सुख सम्पत्ति कीजे, गृह कल्याणी।भक्तन वरदायिनी, सुखदायिनी॥ जय सन्तोषी माता… सुख संपत्ति कीजे, गृह कल्याणी।भक्तन वरदायिनी, सुखदायिनी॥ रिद्धि-सिद्धि की राज देवी, सतबीरा सन्तोषी माता।रिद्धि-सिद्धि की राज देवी, सतबीरा सन्तोषी माता॥ तुमसे विश्व में अज्ञात कोई, नहीं कोई अन्य संतोषी माता।तुमसे विश्व में अज्ञात कोई, नहीं …