Krishna Chalisa

दोहा:
जय कन्हैया लाल की, जय कंजवाला माला।
जय कन्हैया लाल की, जय कंजवाला माला॥

चालीसा:
अरे दुख दरिद्र का मारी, कृष्ण कृपा करी हम पर।
रजनी भरमे है जग सभा, हरी नाम रस महि पर॥

जय कन्हैया लाल की…

धूप दीप फल मेवा, तुलसी पत्ता श्यामा।
चढ़त मेवा धरि रखवारा, कृपा करो बलिहारी॥

जय कन्हैया लाल की…

तेरो ही भरोसा तेरी ही माया, तेरो राम रहे हमारा।
कृपा करो बलिहारी, कृष्ण कृपा करी हम पर॥

जय कन्हैया लाल की…

कृष्ण जनमाष्टमी का दिन है, गोकुल में मधु रात है।
गोपियाँ गोधन गोपाल, जय कान्हा लाल॥

जय कन्हैया लाल की…

तुम विश्व त्राता दाता, नाम जपने जीवन सारा।
हरी नाम रस महि परे, जय कान्हा लाल॥

जय कन्हैया लाल की…

राधा धरनी धर की धार, व्रज में बांसुरी बाजै।
रसराज बिहारी, जय कान्हा लाल॥

जय कन्हैया लाल की…

अनंत कोटि ब्रजमंडल, के नायक श्री राधारमण।
दीनबंधु दुःख हरनहार, जय कान्हा लाल॥

जय कन्हैया लाल की, जय कंजवाला माला।
जय कन्हैया लाल की, जय कंजवाला माला॥

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *